सीरिया का पुराना वीडियो सेना चीफ़ बिपिन रावत की हेलीकॉप्टर दुर्घटना का बताकर शेयर

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो हज़ारों बार देखा जा चुका है जिसे शेयर करते हुए लोगों ने दावा किया कि इसमें भारत के सेना चीफ़ बिपिन रावत का हेलीकॉप्टर क्रैश होता हुआ दिख रहा है. 8 दिसंबर, 2021 को चीफ़ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ़ बिपिन रावत समेत 13 लोगों की हेलीकॉप्टर दुर्घटना में मौत हो गयी. लेकिन ये वायरल वीडियो भ्रामक है: इस वीडियो के बारे में 2020 में ही रिपोर्ट करते हुए बताया गया था कि इसमें सीरिया के बाग़ी किसी सरकारी हेलीकॉप्टर को मार गिरा रहे हैं.

ये वीडियो यूट्यूब पर 8 दिसंबर, 2021 को यहां शेयर किया गया और इसे अबतक 6.5 लाख से ज़्यादा बार देखा जा चुका है.

वीडियो के टाइटल में अंग्रेज़ी में लिखा हुआ है, “चीफ़ ऑफ़ डिफ़ेन्स स्टाफ़ बिपिन रावत के चॉपर क्रैश का लाइव वीडियो.”

वीडियो में एक जलता हुआ हेलीकाप्टर आसमान से नीचे गिर रहा है और उसके परखच्चे उड़ रहे हैं.

भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट


भारत के पहले चीफ़ ऑफ़ डिफेन्स स्टाफ़ बिपिन रावत अपनी पत्नी और 12 अन्य हाई रैंक सैन्य अधिकारियों के साथ रशियन-Mi-17 में जा रहे थे जब तमिलनाडु में हेलीकाप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया.

AFP की रिपोर्ट के मुताबिक इस दुर्घटना में उनकी पत्नी समेत 13 लोगों की मौत हो गयी.

ये वीडियो इसी दावे के साथ फ़ेसबुक पर यहां, यहां और यहां; ट्विटर पर यहां, यहां और यहां; और यूट्यूब पर यहां और यहां शेयर किया गया.

लेकिन ये वीडियो ग़लत संदर्भ में शेयर किया गया है.

वीडियो के कीफ्रेम्स में रिवर्स इमेज सर्च करने पर इसका एक विज़ुअल हमें सेंटर फ़ॉर इकोनॉमिक्स ऐंड फ़ॉरेन पॉलिसी स्टडीज़ (EDAM) की वेबसाइट के एक आर्टिकल में यहां मिला.

2 फ़रवरी, 2020 को प्रकाशित हुए इस आर्टिकल में तुर्की का सीरियाई अरब बल के ख़िलाफ़ जवाबी हमले के बारे में बताया है.

इसमें तुर्की से समर्थन प्राप्त बागियों द्वारा सीरिया के हेलीकॉप्टर पर हमले की बात भी बताई गयी है.

इसकी फ़ोटो के साथ कैप्शन है, “अल-नैराब के पास सशस्त्र विरोधियों द्वारा एक Mi-17 हेलीकॉप्टर मार गिराया गया.”

नीचे वायरल वीडियो में एक-मिनट छः -सेकंड पर स्क्रीनशॉट (बाएं) की तुलना EDAM द्वारा पोस्ट की गयी तस्वीर (दाएं) से की गयी है.

वायरल वीडियो में एक-मिनट छः -सेकंड पर स्क्रीनशॉट (बाएं) की तुलना EDAM द्वारा पोस्ट की गयी तस्वीर (दाएं) से

ट्विटर पर इससे हिंट लेते हुए सर्च करने पर 11 फ़रवरी, 2020 का एक पुराना ट्वीट मिला जिसमें हूबहू वही वायरल वीडियो शेयर किया गया था. इसके कैप्शन में अंग्रेज़ी में लिखा है, “एक घंटे पहले सीरिया के अरब एयर फ़ोर्स का ये Mi-17 यूटिलिटी हेलीकॉप्टर अल-नैराब के पास मार गिराया गया. #इडलिब. #अलक़ायदा से पहचान मिली और #तुर्की से समर्थन प्राप्त बागियों इसकी ज़िम्मेदारी लेने को तैयार हैं. लेकिन ये साफ़ है कि हेलीकॉप्टर को तुर्की ने निशाना बनाया है.”

वायरल वीडियो और ट्वीट के स्क्रीनशॉट की तुलना नीचे देख सकते हैं.

वायरल वीडियो और ट्वीट के स्क्रीनशॉट की तुलना

इस बारे में सर्च करने पर यहां एसोसिएटेड प्रेस की भी मिलती-जुलती वीडियो रिपोर्ट मिली.

इस वीडियो के डिस्क्रिप्शन में लिखा है, “विपक्षी समूह के सदस्य ने बताया कि मंगलवार को देश के उत्तरपश्चिम हिस्से में सीरियाई बागियों ने एक सरकारी हेलीकॉप्टर को मार गिराया है, जहां सीरिया की सेना बागियों के आख़िरी मज़बूत क्षेत्र में लगातार हमले कर रही थी. (11 फ़रवरी)”

सीरियाई के हेलीकॉप्टर क्रैश के ऐसे ही वीडियो अन्य मीडिया आउटलेट्स ने यहां और यहां अपलोड किये हैं.

AFP ने पहले भी इस वीडियो का फ़ैक्ट-चेक किया था जब दावा किया गया था कि ये 11 नवंबर, 2020 को टीग्रेयन बागियों द्वारा इथियोपियन हेलीकॉप्टर को मारे जाने का है.