यमुना एक्सप्रेस-वे की तस्वीर दिल्ली-मुंबई की बताकर वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.
 

कई फ़ेसबुक पोस्ट्स में एक हाईवे की तस्वीर ये बताकर शेयर की जा रही की ये दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे की तस्वीर है जिसका निर्माण कार्य चल जोर-शोर से चल रहा है. तस्वीर के साथ ग़लत दवा है: ये तस्वीर यमुना-एक्सप्रेस-वे की है जो भारत का तीसरा सबसे लम्बा एक्सप्रेस-वे है. इसका 2012 में उद्घाटन हुआ था. 

ये तस्वीर फ़ेसबुक पर 20 जुलाई, 2021 को यहां शेयर की गयी. इसे शेयर करने वाले अकाउंट के 1 .5 लाख से ज़्यादा फ़ॉलोवेर्स हैं. इस पोस्ट को यह रिपोर्ट लिखे जाने तक 6 ,000 से ज़्यादा लोग फ़ेसबुक पर लाइक कर चुके हैं. 

तस्वीर में हरियाली से घिरी कई लेन वाली एक्सप्रेस-वे है.

इसके साथ कैप्शन लिखा गया, "दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का निर्माण रिकॉर्ड तेज़ी के साथ होता हुआ. #PragatiKaHighway."

इस तस्वीर के ऊपर लिखा है, "Onsite progress of Greenfield corridors" और इसके ठीक नीचे लिखा है, "Delhi Mumbai Expressway."

Screenshot of the facebook post taken on July 27, 2021

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे निर्माण भारत की सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के अग्रणी परियोजना भारतमाला के पहले चरण का हिस्सा है. समाचार पत्र द इकोनॉमिक टाइम्स के अनुसार, इस परियोजना के तहत पांच हरित राजमार्ग और 17 राष्ट्रीय राज्यमार्ग का निर्माण होना है.  

हाल ही में केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने संसद में कहा था की एक्सप्रेस-वे का काम जनवरी 2023 तक पूरा करने के लिए पूरी ताकत झोंक दी गयी है. भारतीय आर्थिक समाचार पत्र मिंट ने यहां रिपोर्ट कर बताया था कि सरकार ने वित्तीय वर्ष 2025 तक सभी 25 परियोजनाओं को पूरा करने का लक्ष्य बनाया है. 

ये तस्वीर इसी दावे के साथ अन्य फ़ेसबुक यूज़र्स ने यहां और यहां, और भाजपा सदस्य ने भी यहां शेयर की.

ये दावा ग़लत है.

टिन-आय पर इसका रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें यही तस्वीर भारत के एक स्टील कंपनी JSW स्टील की वेबसाइट पर यहां मिली. वेबसाइट पर दिखाया गया है कि ये हाईवे नोएडा और आगरा को जोड़ती है.

गूगल मैप्स पर यमुना एक्सप्रेस-वे का सेटलाइट व्यू आप यहां भी देख सकते हैं.

AFP ने भारत के सबसे लम्बे छः लेन वाले यमुना एक्सप्रेस-वे के बारे में यहां रिपोर्ट किया था. करीब 13 हज़ार करोड़ रुपए की लगत से बने इस एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन 2012 में किया गया था.

नीचे भ्रामक फ़ेसबुक पोस्ट की तस्वीर और JSW स्टील की वेबसाइट पर मिली तस्वीर के बीच तुलना देख सकते हैं.

इस यमुना एक्सप्रेस-वे की तस्वीर को बहुत लोगों ने दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे की बताकर सोशल मीडिया पर गलत दावे के साथ शेयर किया.