ऑस्ट्रेलिया में अनिवार्य टीकाकरण के ख़िलाफ़ प्रदर्शन का वीडियो भ्रामक दावे से वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

फ़ेसबुक और ट्विटर पर एक वीडियो इस दावे के साथ वायरल है कि हाल ही में अमेरिका की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का विरोध करने वाले लोगों ने उनके काफिले को मेक्सिको से भगाया. यह दावा भ्रामक है: वायरल वीडियो दरअसल ऑस्ट्रेलिया में कोविड-19 के अनिवार्य वैक्सीनेशन के ख़िलाफ़ हुए विरोध प्रदर्शन को दिखाता है.

वीडियो को यहां 11 अक्टूबर, 2021 को एक फेसबुक पोस्ट में शेयर किया गया था.

वायरल पोस्ट के कैप्शन में लिखा है: "मैं भी सोच रहा था कि कुछ गलत था. पांच दिन का दौरा था लेकिन वह तीन दिनों में लौट आया. अमेरिकी इतिहास में कभी भी भारतीय प्रधानमंत्री का मैक्सिकन भीड़ द्वारा इस तरह पीछा नहीं किया गया था...अमेरिकी सैनिक पीछे मुड़े और मोदी के साथ भाग गए. किसानों के साथ अमेरिका की एकता अमर रहे. आपको अमेरिका में मोदी द्वारा झेले गए अपमान को किसानों के सामने उसे खदेड़ते हुए देखना चाहिए."

वायरल फुटेज में भीड़ को किसी काफिले का पीछा करते और कुछ पुलिस कारों पर हमला करते हुए भी दिखाया गया है. वीडियो में दंगा नियंत्रण करने वाले पुलिस अधिकारी अपने वाहनों से बाहर निकलते हुए भी दिखाई देते हैं.

18 अक्टूबर, 2021 को लिया गया भ्रामक फेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

भ्रामक पोस्ट को सितंबर 2021 के अंत में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ भारतीय प्रधानमंत्री की अमेरिका में अपनी पहली व्यक्तिगत मुलाकात की यात्रा के बाद शेयर किया गया था. 

प्रसार भारती न्यूज़ सर्विस के अनुसार भारतीय प्रधानमंत्री की अमेरिका यात्रा तीन दिनों के लिये तय की गई थी.

वीडियो को इसी तरह के दावे के साथ यहां, यहां और यहां फ़ेसबुक पर शेयर किया गया है; और ट्विटर पर भी यहां और यहां शेयर किया गया है.

ये दावा भ्रामक है.

अमेरिका में यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के ख़िलाफ़ का वाइट हाउस के पास विरोध प्रदर्शन तो हुआ लेकिन मेक्सिको में उनके काफ़िले का पीछा या उन्हें भगाने की कोई आधिकारिक रिपोर्ट नहीं मिली.

वायरल वीडियो के कीफ्रेम का उपयोग करके गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर पाया गया कि इसे ऑस्ट्रेलियाई न्यूज आउटलेट नाइन न्यूज के एक ट्वीट में भी पहले शेयर किया गया था.

नाइन न्यूज द्वारा प्रकाशित एक न्यूज़ रिपोर्ट के अनुसार ये वीडियो ऑस्ट्रेलियाई राज्य विक्टोरिया के मेलबर्न में विरोध प्रदर्शन के दौरान लिया गया था.

नीचे भ्रामक पोस्ट (बायें) और नाइन न्यूज (दायें) द्वारा शेयर किए गए वीडियो के स्क्रीनशॉट की एक तुलना है:

भ्रामक पोस्ट (बायें) और नाइन न्यूज (दायें) द्वारा शेयर किए गए वीडियो के स्क्रीनशॉट की एक तुलना

वीडियो के बारे में AFP की रिपोर्ट भी मिली जिसके अनुसार आस्ट्रेलिया के दूसरे सबसे बड़े शहर मेलबर्न में निर्माण क्षेत्र के मज़दूरों ने एक बड़ा विरोध प्रदर्शन किया था. ये विरोध प्रदर्शन लम्बे समय तक चलने वाले लॉकडाउन और अनिवार्य कोविड-19 टीकाकरण की नीति के ख़िलाफ़ था.

ख़बर के अनुसार मज़दूरों के द्वारा कोविड-19 नियमों का अनुपालन न करने और हिंसक विरोध प्रदर्शन करने की वजह से अधिकारियों ने कई निर्माण साइटों को बंद भी कर दिया था.

वायरल वीडियो यहां राठडाउन स्ट्रीट में रिकॅार्ड किया गया था: