शाहरुख़ ख़ान की पुरानी तस्वीर एडिट कर भ्रामक दावे के साथ वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ ख़ान की एक तस्वीर इस दावे के साथ वायरल हो रही है कि यह उनके बेटे आर्यन ख़ान की गिरफ़्तारी के बाद ली गई है. ये दावा ग़लत है: वायरल तस्वीर दरअसल 2017 की है और इसको एडिट कर झूठे दावे के साथ शेयर किया जा रहा है.

वायरल तस्वीर को यहां एक फ़ेसबुक पोस्ट में 23 अक्टूबर 2021 को शेयर किया गया है.

इस पोस्ट को अब तक 16,000 लाइक्स और लगभग एक हज़ार से भी ज़्यादा शेयर मिल चुके हैं.

तस्वीर में शाहरुख़ ख़ान कार में बैठे बहुत चिंतित और परेशान नज़र आ रहे हैं. फ़ोटो के साथ टेक्स्ट में लिखा है ‘बच्चे की चिंता.’

ज्ञात हो कि शाहरुख़ खान के बड़े बेटे आर्यन खान (23), को 3 अक्टूबर 2021 को एक ड्रग केस के सिलसिले में मुंबई के एक क्रूज़ शिप से गिरफ़्तार किया गया था. वायरल पोस्ट को इसी संदर्भ से जोड़कर शेयर किया जा रहा है. आर्यन खान को 28 अक्टूबर 2021 को बेल पे रिहा किया गया. 

27 अक्टूबर, 2021, को लिया गया भ्रामक दावे का स्क्रीनशॉट

कई अन्य सोशल मीडिया यूज़र्स ने भी इस तस्वीर को बिल्कुल इसी दावे के साथ यहां, यहां और यहां फ़ेसबुक पर; यहां ट्विटर पर भी शेयर किया है. 

हालाँकि ये दावा ग़लत है.

वायरल तस्वीर को एक साधारण रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमने पाया कि ये तस्वीर पुरानी है और इसे एडिट कर शेयर किया जा रहा है. हमें 16 मार्च 2021 का द् क्विंट द्वारा प्रकाशित एक लेख मिला जिसमें बिल्कुल यही तस्वीर मूल रूप में छापी गई थी.

रिपोर्ट की हेडलाइन थी, “क्या हुआ जब शाहरुख़ ख़ान की कार से एक फ़ोटोग्राफ़र चोटिल हो गया.”

रिपोर्ट में आगे लिखा है कि जब शाहरुख़ खान बॉलीवुड अभिनेत्री आलिया भट्ट की जन्मदिन पार्टी में उनके घर जा रहे थे तो अचानक उनकी कार से एक फ़ोटोग्राफ़र का पैर जब गया.

रिपोर्ट में शाहरुख़ ख़ान की दो तस्वीरें भी हैं जिनमें वो कार में बैठे नज़र आ रहे हैं:

द् क्विंंट में 16 मार्च 2017 में छपी शाहरुख़ ख़ान की दो तस्वीरें

 

शाहरुख़ ख़ान के चहरे पर बदहवासी दिखाने के लिए इसी तस्वीर को एडिट कर भ्रामक दावे के साथ शेयर किया गया. 

नीचे वायरल तस्वीर (दायें) और द् क्विंंट की तस्वीर (बायें) के बीच एक तुलना है.

वायरल तस्वीर (दायें) और द् क्विंंट की तस्वीर (बायें) के बीच एक तुलना

असली तस्वीर को 26 मार्च 2021 की एक रिपोर्ट में भी यहां प्रकाशित किया गया था.