गुरुद्वारे के प्रवेश द्वार पर हाथ धो रहे प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर गलत दावे से वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हाथ धोते हुए एक तस्वीर गलत दावे के साथ सोशल मीडिया पर काफ़ी वायरल है. तस्वीर के साथ ये दावा किया जा रहा है कि यह उन्हें एक बाथरूम के अंदर कैमरे के लिए पोज़ देते हुए दिखाती है. वास्तव में इस तस्वीर में मोदी दिल्ली स्थित एक गुरुद्वारे के प्रवेश द्वार पर हाथ धोते हुए नज़र आ रहें हैं. ज्ञात रहे कि गुरुद्वारे में प्रवेश करने से पहले हाथ धोने की प्रथा है.

ट्विटर पर 20 अक्टूबर, 2022 को पोस्ट किए जाने के बाद से इस तस्वीर को 1,800 से अधिक बार रीट्वीट किया जा चुका है.

इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक वॉशबेसिन पर हाथ धोते हुए देखा जा सकता है, जबकि एक व्यक्ति उनके बगल में खड़ा हुआ दिख रहा है.

बाथरूम का ज़िक्र करते हुए ट्वीट के कैप्शन में लिखा है, "बस कैमरे को बाथरूम के अंत तक ले जाना बाकी है. समझ रहे हो ना दोस्तों."

तस्वीर के ऊपर टेक्स्ट में लिखा है: “कैमरा कहाँ तक ले जाओगे मोदी जी?"

गलत दावे से शेयर की जा रही ट्वीट का स्क्रीनशॉट, 24 अक्टूबर 2022

तस्वीर को इसी दावे के साथ फ़ेसबुक पर यहां, यहां और ट्विटर पर यहां शेयर किया गया है.

हालांकि ये दावा गलत है.

गुरुद्वारे में नरेन्द्र मोदी

तस्वीर को कुछ कीवर्ड्स के साथ रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमने पाया कि यह तस्वीर अंग्रेज़ी दैनिक द फ़्री प्रेस जर्नल की 20 दिसंबर, 2020 की एक रिपोर्ट में प्रकाशित हुई थी.

रिपोर्ट की हेडलाइन है: "तस्वीरों में: पीएम मोदी का दिल्ली में गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब का औचक दौरा.”

गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब नई दिल्ली स्थित एक गुरुद्वारा है.

तस्वीर के कैप्शन में लिखा है: "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को नई दिल्ली में गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के अवसर पर गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब गए."

गुरुद्वारे में प्रवेश करने से पहले हाथ धोने की प्रथा है.

नीचे गलत दावे से शेयर की गई तस्वीर (बाएं) और फ़्री प्रेस जर्नल की रिपोर्ट की तस्वीर (दाएं) की तुलना दी गई है:

नरेन्द्र मोदी ने 20 दिसंबर, 2022 को अपनी गुरुद्वारा यात्रा की तस्वीरें यहां, यहां और यहां ट्वीट की हैं.

अन्य मीडिया आउटलेट्स द्वारा भी उस दिन यहां, यहां इस यात्रा की कवरेज की गई थी.

गुरूद्वारे के प्रवेश द्वार पर AFP के एक पत्रकार द्वारा ली गई वॉशबेसिन की एक तस्वीर में मोदी की तस्वीर के समान ही विशेषताएं दिखाई देती हैं:

गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब, नई दिल्ली ( AFP / Devesh Mishra)
अनुवाद और अनुकूलन: