दैनिक भास्कर के ग्राफ़िक का एडिटेड स्क्रीनशॉट वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

दैनिक भास्कर द्वारा ट्वीट किये गए एक ग्राफ़िक को एडिट करके सोशल मीडिया पर हज़ारों बार शेयर कर दावा किया जा रहा है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की प्रशंसा करते हुए उन पर एक टिप्पणी की है. दैनिक भास्कर समूह के एक वरिष्ठ संपादक ने AFP को बताया कि ये तस्वीर एडिटेड है और भास्कर ने ऐसी कोई भी रिपोर्ट कभी प्रकाशित नहीं की है. AFP को ऐसी कोई भी आधिकारिक रिपोर्ट नहीं मिली जिससे यह पता चले कि सुनक ने सार्वजनिक रूप से यह टिप्पणी की थी.

ग्राफ़िक को फ़ेसबुक पर 27 अक्टूबर, 2022 को यहां शेयर किया गया है जिसमें दैनिक भास्कर के लोगो के साथ ऋषि सुनक और मनमोहन सिंह की तस्वीर है.

कैप्शन में लिखा है, "अरे, ऋषि तो मोदी विरोधी निकले."

ग्राफ़िक में अलग से टेक्स्ट में लिखा है: “भारत को सही दिशा और दशा देने कमज़ोर गिरती अर्थव्यवस्था को सुधारने के लिए मनमोहन सिंह जैसे प्रधानमंत्री की आवश्यकता है:-ऋषि सुनक.”

गलत दावे से शेयर की जा रही फ़ेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट, 31 अक्टूबर 2022

भारतीय मूल के ऋषि सुनक, देश में चल रही आर्थिक अस्थिरता और सार्वजनिक असंतोष के कारण लिज़ ट्रस के इस्तीफ़े के बाद, ब्रिटेन के नये प्रधानमंत्री बने हैं.

एडिटेड ग्राफ़िक को इसी तरह के दावों के साथ फ़ेसबुक पर यहां और यहां और यहां ट्विटर पर भी शेयर किया गया है.

हालांकि दैनिक भास्कर ने ऐसा ग्राफ़िक कभी प्रकाशित नहीं किया और AFP को ऐसी कोई आधिकारिक रिपोर्ट नहीं मिली है जिससे यह स्पष्ट हो सके कि सुनक ने मनमोहन सिंह के बारे में सार्वजनिक रूप से ऐसा कोई बयान दिया है.

एडिटेड तस्वीर

दैनिक भास्कर के एक वरिष्ठ संपादक अंकित फ़्रांसिस ने AFP को बताया कि सोशल मीडिया पोस्ट में शेयर किया जा रहा ग्राफ़िक एडिटेड है.

उन्होंने कहा, "यह एक एडिटेड तस्वीर है जिसे दैनिक भास्कर के नाम से शेयर किया जा रहा है. हमने ऐसी कोई भी स्टोरी नहीं की है."

कुछ कीवर्ड्स के साथ गूगल रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें एक ऐसा ही ग्राफ़िक 25 अक्टूबर, 2022 को दैनिक भास्कर के आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर यहां प्रकाशित हुआ मिला.

नीचे गलत दावे से शेयर की जा रही पोस्ट (बाएं) और दैनिक भास्कर द्वारा प्रकाशित तस्वीर (दायें) के स्क्रीनशॉट की एक तुलना की गई है:

दैनिक भास्कर के असल ग्राफ़िक में लिखा है: "चिदंबरम-थरूर की सलाह, भारत में भी हो अल्पसंख्यक PM: भाजपा बोली - मनमोहन सिंह को भूल गए."

ग्राफ़िक को एक ट्वीट के साथ पोस्ट किया गया है जिसमें कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं के बीच अल्पसंख्यक समुदाय के प्रधानमंत्री होने के बयान को लेकर बहस की एक रिपोर्ट शेयर की गई है.

ट्वीट में कांग्रेस और भाजपा के नेताओं के बीच बयानबाज़ी का ज़िक्र है; इसमें कहीं भी ऋषि सुनक द्वारा मनमोहन सिंह के बारे में कोई बयान देने की बात नहीं है.

ट्विटर पर एक अलग कीवर्ड सर्च में हमने पाया कि दैनिक भास्कर ने 28 अक्टूबर, 2022 को एक ट्वीट में इस एडिटेड ग्राफ़िक को गलत बताया है.

ट्वीट के कैप्शन में लिखा है: "ये फेक तस्वीर दैनिक भास्कर के नाम से शेयर की जा रही है, इस तरह की कोई स्टोरी भास्कर ने नहीं की है ये किसी शरारती तत्व की हरकत है। कृपया ऐसी भ्रामक जानकारी के जाल में न फंसे। #FakeNews"