कृत्रिम सूरज नहीं, ये चीन में एक रॉकेट लॉन्च का वीडियो है

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर करते हुए कहा गया कि इसमें चीन में कृत्रिम सूरज निकलता हुआ दिख रहा है. हाल ही में चीन की मीडिया ने देश में नए रिकॉर्ड स्तर पर तापमान क्षमता वाले बनाये गए एक न्यूक्लियर रिएक्टर की जानकारी दी थी, जिसके बाद ये पोस्ट शेयर किये जाने लगे. लेकिन ये वीडियो ग़लत सन्दर्भ में शेयर किया गया है: फ़ुटेज में चीन में दिसंबर 2021 में रॉकेट लॉन्च का नज़ारा दिख रहा है.

ये वीडियो एक वेरिफ़ाइड ट्विटर हैंडल ने 10 जनवरी, 2022 को यहां शेयर किया.

वीडियो में भीड़ नज़र आ रही है और लोग आग के गोले जैसी एक छवि का वीडियो रिकॉर्ड कर रहे हैं.

वीडियो शेयर करते हुए यूज़र ने लिखा, "#Video देखिये ऐसे निकला था चीन का 'नकली सूरज' #China #ArtificialSun"

भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

चीन के सरकारी मीडिया एजेंसी शिन्हुआ ने दिसंबर 2021 में रिपोर्ट किया था की चीन में बने एक न्यूक्लियर रिएक्टर में अत्यधिक उच्च तापमान सहने की क्षमता है, जिसे "कृत्रिम सूरज" का नाम भी दिया गया है. इसेके बाद लोग वीडियो के साथ ये दावा शेयर करने लगे.

एजेंसी के मुताबिक पूर्वी चीन के अन्हुई प्रान्त की राजधानी हेफ़ेई में किये गए इस प्रयोग में रिएक्टर को सूरज से भी पांच गुना ज़्यादा गर्म किया गया था.

ये वीडियो फ़ेसबुक पर यहां और यहां; और ट्विटर पर यहां और यहां शेयर किया गया.

यही वीडियो अंग्रेज़ी, उर्दू, जापानी और इंडोनेशियाई भाषा में कैप्शन के साथ भी शेयर किया गया.

लेकिन इसे ग़लत सन्दर्भ में शेयर किया गया है.

इस वीडियो में लोग चीनी भाषा में चिल्लाते हुए कह रहे हैं, "इंजन में आग" और "रॉकेट लॉन्च कर दिया गया!"

इस वीडियो के कीफ्रेम्स का रिवर्स सर्च और बाइडू पर कीवर्ड सर्च करने पर मालूम चला कि ये पिछले दिसंबर में चीन में वेनचांग स्पेसक्राफ़्ट लॉन्च साइट के पास रॉकेट लॉन्च किये जाने का फ़ुटेज है.

चाइना ऐरोस्पेस साइंस ऐंड टेक्नोलॉजी कॉर्पोरेशन के मुताबिक चीन ने इस जगह से 23 दिसंबर, 2021 को दो सेटलाइट लॉन्च किया था.

ऐसा ही वीडियो चीन जैसे सोशल मीडिया वीबो पर यहां मिला जहां वीडियो 7 जनवरी, 2022 को शेयर किया गया था.

यहां चीनी भाषा में लिखे कैप्शन का हिंदी में मतलब है, "रॉकेट लॉन्च देखकर बहुत खुश हूं, काफ़ी शानदार."

वीडियो में दायीं तरफ़ एक जैसे बीच के किनारे और पेड़ नज़र आ रहे हैं.

नीचे भ्रामक पोस्ट (बाएं) और वीबो पर मिले वीडियो (दाएं) के स्क्रीनशॉट की तुलना है:

भ्रामक पोस्ट (बाएं) और वीबो पर मिले वीडियो (दाएं) के स्क्रीनशॉट की तुलना

आगे कीवर्ड सर्च करने पर ऐसा ही वीडियो चीन के वीडियो प्लेटफ़ॉर्म बिलबिली पर 23 दिसंबर, 2021 को यहां पोस्ट किया हुआ मिला.

इसकी चीनी भाषा में हेडलाइन दी गयी है जिसका हिंदी अनुवाद है, "लॉन्ग मार्च7-A रॉकेट के लॉन्च का लाइव फ़ुटेज."

नीचे भ्रामक पोस्ट (बाएं) और बिलबिली पर मिले वीडियो (दाएं) के स्क्रीनशॉट की तुलना है जहां AFP ने समानताओं को  चिन्हित किया है.

भ्रामक पोस्ट (बाएं) और बिलबिली पर मिले वीडियो (दाएं) के स्क्रीनशॉट की तुलना