फ़ेसबुक पर हालिया माओवादी हमले की बताकर शेयर की गयी ये तस्वीरें पुरानी हैं

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

कई फ़ेसबुक पोस्ट्स में कुछ तस्वीरें शेयर करते हुए इन्हें जनवरी 2022 में छत्तीसगढ़ में हुए माओवादी हमले में घायल जवानों की बताई जा रही है. लेकिन इन्हें ग़लत सन्दर्भ में शेयर किया गया है: इनमें से अधिकतर तस्वीरें पुरानी मीडिया रिपोर्ट्स में मिलीं, वहीं एक तस्वीर हॉलीवुड फ़िल्म, स्टार वॉर्स, का दृश्य है.

ये तस्वीरें फ़ेसबुक पर यहां 15 जनवरी, 2022 को शेयर की गयीं.

इसके कैप्शन का एक हिस्सा कहता है, "14.01.2022 को छत्तीसगढ़ के कांकेर में नक्सली हमले में 3 जवान घायल, टारगेट कर ब्लास्ट किए गए 2 IED. #SSB के जवान प्रस्तावित नए रेलवे ट्रैक के निर्माण में लगे कर्मचारियों को सुरक्षा प्रदान कर रहे थे."

भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

बता दें कि 14 जनवरी, 2022 को छत्तीसगढ़ में माओवादियों द्वारा किये गए IED (इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) हमले में तीन जवान घायल हो गए थे.

ये तस्वीरें फ़ेसबुक पर यहां और यहां भी शेयर की गयीं.

लेकिन इन तस्वीरों को ग़लत सन्दर्भ में शेयर किया गया है.

रिवर्स सर्च करने पर मालूम चला कि ये तस्वीरें पुराने हमलों पर की गयी रिपोर्ट में छप चुकी हैं.

अन्य IED धमाके 

पहली दो तस्वीरें छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नवंबर 2018 में हुए IED धमाकों पर की गयी रिपोर्ट में मिलीं.

ये तस्वीरें DNA ने 14 नवंबर, 2018 को ट्वीट की थी. कैप्शन में बताया गया है कि इस हमले में पांच जवान और एक नागरिक घायल हो गए थे.

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीरों (बाएं) और DNA द्वारा पोस्ट की गयी तस्वीरों (दाएं) की तुलना देख सकते हैं:

  



ये तस्वीरें अन्य मीडिया आउटलेट्स ने भी यहां और यहां छापी थीं.

तीसरी और चौथी तस्वीर छत्तीसगढ़ के नारायणपुर ज़िले में हुए माओवादी हमले के बारे में की गयी रिपोर्ट में मिलीं. 

इन्हें पहले ANI ने 12 जनवरी, 2021 को ट्वीट किया था.

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीरों (बाएं) और ANI द्वारा पोस्ट की गयी तस्वीरों (दाएं) की तुलना देख सकते हैं:

   

पांचवीं तस्वीर अगस्त 2013 में उड़ीसा के कोरापुर में हुए माओवादी हमले के बारे में छपी रिपोर्ट में मिली.

इसे एसोसिएटेड प्रेस ने 27 अगस्त, 2013 को यहां पब्लिश किया था.

इसके कैप्शन में बताया गया है, "भारत के उड़ीसा के कोरापुट ज़िले में माओवादियों द्वारा जवानों के वाहनों पर किये गए हमले के बाद वहां खड़े अर्धसैनिक बल के जवान, मंगलवार, 27 अगस्त, 2013."

आगे लिखा है, "बागियों द्वारा किये गए धमाके में कम से कम पांच लोगों की मौत हो गयी और दो अन्य घायल हैं. ये बागी जो खुद को चीनी क्रन्तिकारी माओ जेदोंग से प्रेरित बताते हैं, 40 से अधिक वर्षों से भारत के कई हिस्सों में लड़ रहे हैं."

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीर (बाएं) और एसोसिएटेड प्रेस द्वारा छापी गयी तस्वीर (दाएं) की तुलना देख सकते हैं:

    

स्टार वॉर्स का सीन

छठी तस्वीर 1983 में आयी फ़िल्म स्टार वॉर्स: रिटर्न ऑफ़ द जेडी में एक धमाके के सीन का स्क्रीनशॉट है.

रिवर्स सर्च करने पर हमें एक यूट्यूब वीडियो मिला जिसमें फ़िल्म के कुछ हिस्से दिखाए गए हैं.

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीर (बाएं) और यूट्यूब वीडियो में 2 मिनट पर लिए गए स्क्रीनशॉट (दाएं) की तुलना देख सकते हैं:

  

ये सीन फ़िल्म में 37 मिनट 57 सेकंड पर देख सकते हैं.

माओवादी मुठभेड़

सातवीं तस्वीर छत्तीसगढ़ के सुकमा में जवानों और माओवादियों के बीच मुठभेड़ के बारे में की गयी रिपोर्ट में मिली.

इसे द इंडियन एक्सप्रेस ने 7 मार्च, 2016 को यहां पब्लिश किया था.

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीर (बाएं) और द इंडियन एक्सप्रेस द्वारा छापी गयी तस्वीर (दाएं) की तुलना है:

पूर्व हमले

आठवीं तस्वीर छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा ज़िले में हुए पूर्व माओवादी हमले पर रिपोर्ट में मिली.

इसे बिज़नेस स्टैंडर्ड ने इस जानलेवा हमले पर अपनी रिपोर्ट में 21 मई, 2018 को यहां प्रकाशित किया था.

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीर (बाएं) और बिज़नेस स्टैंडर्ड द्वारा छापी गयी तस्वीर (दाएं) की तुलना है:

यही तस्वीर NDTV ने यहां और द क्विंट ने यहां छापी थी.

आखिरी तस्वीर छत्तीसगढ़ के कांकेर ज़िले में हुए माओवादी हमले पर की गयी रिपोर्ट में मिली.

इसे द टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने अपनी रिपोर्ट में 11 नवंबर, 2018 को यहां प्रकाशित किया था.

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीर (बाएं) और टाइम्स ऑफ़ इंडिया द्वारा छापी गयी तस्वीर (दाएं) की तुलना की गयी है:

  

इसे NDTV ने भी यहां पब्लिश किया था.