टोक्यो 2020 अधिकारी ओलिंपिक विलेज के बेड का अनावरण करते हुए ( JIJI PRESS / STR)

टोक्यो ओलंपिक्स में कार्डबोर्ड के बेड खिलाड़ियों के बीच सेक्स को रोकने के लिए नहीं बनाये गये

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

कई मीडिया आउटलेट्स और सोशल मीडिया यूज़र्स ने दावा किया कि टोक्यो ओलंपिक्स में इस बार खिलाड़ियों के सोने के लिए ऐंटी-सेक्स बेड्स दिए गये हैं. ऐसा किया गया ताकि खिलाड़ी एक-दूसरे के करीब न जाएं और कोविड-19 महामारी के दौरान सामाजिक दूरी बनी रहे. लेकिन ये दावा भ्रामक है: महामारी से महीनों पहले इन बेड्स का अनावरण करने वाले आयोजकों ने बताया कि ऐसे बेड्स अवांछित कूड़ा इकठ्ठा होने से बचने के लिए बनाये गये हैं.

ये भ्रामक दावा पहले फ़िलिपींस के एक ब्लॉग पर 19 जुलाई, 2021 को किया गया था.

पोस्ट में कहा गया कि कार्डबोर्ड से बने ये बेड्स एक व्यक्ति से ज्यादा का वज़न नहीं झेल सकते हैं.

ये दावा यूज़र्स के साथ-साथ कई भारतीय आउटलेट्स ने भी किया जिन्हें आप यहां, यहां, यहां, और यहां देख सकते हैं.

हिंदी और अंग्रेज़ी के अलावा ये दावा इंडोनेशियाई, थाई, कोरियाई और बंगाली भाषा में भी किया गया.

यही नहीं, बेड्स के बारे में दावा कुछ एथलीट्स ने भी शेयर किया.

ऑस्ट्रेलियाई बास्केटबॉल खिलाड़ी उन्हीं में से एक हैं. उन्होंने लिखा, “बहुत बढ़िया कदम… जब तक कि खिलाड़ी अपनी प्रतियोगता पूरी नहीं करते और पूरे ओलिंपिक विलेज में दिए गये हज़ारों कंडोम्स का इस्तेमाल नहीं किया जाता.”

लम्बी दूरी के धावक पॉल चेलिमो ने भी कहा कि “ये बेड्स खिलाड़ियों के बीच संबंध बनाने से रोकने के लिए दिए गये हैं.”

ये दावा भ्रामक है.

महामारी के दस्तक देने से पहले ही बेड्स के निर्माता एयरवीव ने जनवरी 2020 में ही AFP को बताया था कि ये बेड्स 200 किलो तक का वज़न सह सकते हैं और कई परिक्षण से गुज़र चुके हैं.

आयोजकों ने बेड पर केवल एक व्यक्ति के वज़न झेले जाने का दावा वायरल होने के बाद 19 जुलाई को दोहराते हुए कहा ये बेड्स मज़बूत हैं.

जुलाई 2021 में जब ये दावा इन्टरनेट पर वायरल हुआ तो आयरिश जिमनास्ट रीज़ मेकक्लेनेगन ने इन बेड्स पर कूदते हुए अपना विडियो बनाकर पोस्ट किया. उन्होंने बताया कि वायरल दावा भ्रामक है कि बेड्स को सेक्स रोकने के लिए बनाया गया है.

उन्होंने विडियो में कहा, “ये बेड्स सेक्स रोकने के लिए हैं. ये कार्डबोर्ड से बने हैं और हां, ये अचानक वज़न पड़ने से टूट जाते हैं. फे़ेक न्यूज़ है.”

ओलंपिक्स के आयोजकों ने इन बेड्स का अनावरण सितम्बर 2019 में ही किया था, कोरोना का पहला मामला दर्ज किये जाने से कई महीने पहले.

आयोजकों ने बताया कि टोक्यो 2020 में संपोषणीयता बनाये रखने के लिए ही ऐसे बेड्स तैयार किये गये हैं.

ताकाशी किताजिमा, टोक्यो 2020 आयोजक जो खेल गांव के प्रभारी हैं, USA Today को बताया, "ओलिंपिक के बाद कागज के उत्पादों का पुनर्चक्रण किया जाएगा. ओलंपिक और पैरालंपिक इतिहास में यह पहली बार होगा कि सभी बिस्तर लगभग पूरी तरह से नवीकरणीय सामग्री से बने हैं।"

बता दें कि 23 जुलाई, 2021 से शुरू हुए टोक्यो ओलंपिक्स के दौरान हज़ारों खिलाड़ी ओलिंपिक विलेज में रह रहे हैं.

अनुवाद और अनुकूलन:
टोक्यो ओलंपिक्स