जनरल बिपिन रावत के हेलिकॉप्टर दुर्घटना की बताकर वायरल पुरानी तस्वीर

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में सैन्य प्रमुख विपिन रावत, उनकी पत्नी और 11 लोगों के निधन के बाद सोशल मीडिया पोस्ट्स और समाचार लेखों में दुर्घटना की बता एक तस्वीर शेयर की गई. तस्वीर एक ध्वस्त सेना हेलीकाप्टर को दिखाती है. इस तस्वीर को ग़लत संदर्भ में शेयर किया गया है: ये तस्वीर अक्टूबर 2019 में जम्मू के पुंछ इलाके में तकनीकी खराबी की वजह से मजबूरन उतारे गए एक हेलीकॉप्टर को दिखाती है.

यह तस्वीर यहां 8 दिसंबर, 2021 को ट्विटर पर शेयर की गई थी.

तस्वीर के साथ कैप्शन में लिखा है,“#BipinRawat यह हमारे पायलटों के निम्न स्तर के कौशल को दिखाता है. यह पहली बार नहीं है जब हमारा हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ है. ऐसा हर महीने होता है! भारतीय वायुसेना के लिए एक और शर्मनाक स्थिति.”

ट्विटर पोस्ट में भारत के पहले चीफ़ ऑफ डिफ़ेंस स्टाफ बिपिन रावत की एक तस्वीर भी शेयर की गई है. 

रावत अपनी पत्नी और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ रूस निर्मित MI-17 हेलिकॉप्टर में यात्रा कर रहे थे जो 8 दिसंबर को दक्षिणी तमिलनाडु राज्य में अपने गंतव्य के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. 

इस दुर्घटना में सेना प्रमुख बिपिन रावत के साथ 13 और लोगों का निधन हो गया था. इस हादसे में केवल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह बच पाए थे लेकिन 15 दिसंबर को उनकी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. 

भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

  

इस तस्वीर को इसी तरह के दावे के साथ यहां और यहां फ़ेसबुक पर; साथ ही यहां और यहां ट्विटर पर भी शेयर किया गया.

 इसे यहां, यहां, यहां और यहां कई समाचार पोर्टलों द्वारा भी पोस्ट किया गया था; और एक तुर्की समाचार वेबसाइट ने भी इस तस्वीर को शेयर किया है. 

हालांकि, तस्वीर को ग़लत संदर्भ में शेयर किया गया है.

एक रिवर्स इमेज सर्च में पाया गया कि इसे अक्टूबर 2019 में जम्मू के पुंछ इलाके की एक घटना के बारे में कई समाचार रिपोर्टों में प्रकाशित किया गया था.

भारतीय समाचार आउटलेट NDTV ने 24 अक्टूबर, 2019 को एक रिपोर्ट में यही तस्वीर प्रकाशित की, जिसकी हेडलाइन थी, “जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आर्मी चॉपर मजबूरन उतारा गया, टॉप जनरल सहित सभी सुरक्षित.”

NDTV की वेबसाइट पर छपी तस्वीर का स्क्रीनशॉट

इस तस्वीर के कैप्शन में अंग्रेज़ी में लिखा है, "जम्मू कश्मीर के पूंछ में हेलीकॉप्टर को मजबूरन लैंड करवाया गया."

रिपोर्ट के अनुसार, 24 अक्टूबर 2019 को सेना के एक हेलीकॉप्टर को सेना के सात जवानों को लेकर पुंछ में उतरना पड़ा. चालक दल के सभी सदस्यों को सुरक्षित बताया गया. रिपोर्ट में दुर्घटना में एक नागरिक के घायल होने की भी बात कही गई है.

भ्रामक पोस्ट (बायें) और NDTV (दायें) द्वारा प्रकाशित 2019 की तस्वीर की तुलना का स्क्रीनशॉट नीचे दिया गया है:

भ्रामक पोस्ट (बायें) और NDTV (दायें) द्वारा प्रकाशित 2019 की तस्वीर की तुलना

द इंडियन एक्सप्रेस और डेक्कन हेराल्ड ने भी इस घटना पर रिपोर्ट करते हुए ये तस्वीर छापी थी.

समाचार एजेंसी ANI ने भी उसी दिन यहां हुई घटना के अन्य दृश्यों के बीच इस तस्वीर को ट्वीट किया है.