बहुजन समाज पार्टी के नाम से मेट्रो स्टेशन पर लगा ये बिलबोर्ड एडिटेड है

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों के दौरान ही सोशल मीडिया पर बहुजन समाज पार्टी के नाम से एक बिलबोर्ड की तस्वीर वायरल हो रही है. इसे शेयर कर दावा किया जा रहा कि लखनऊ मेट्रो स्टेशन में महिलाओं के अधिकारों की पैरवी करता पार्टी का एक बिलबोर्ड लगाया गया है. लेकिन ये दावा ग़लत है; हालांकि बसपा ने कहा कि वो महिला अधिकारों की हिमायती पार्टी है लेकिन मेट्रो प्रशासन और पार्टी ने AFP को बताया कि ऐसा कोई भी बिलबोर्ड लखनऊ मेट्रो स्टेशन पर नहीं लगाया गया है. असलियत में ये एक डिज़ाइन टेम्पलेट है जिसे डिजिटल तकनीक के एडिट किया गया है. 

तस्वीर को फ़ेसबुक पर यहां 25 जनवरी को शेयर किया गया है. 

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, "बसपा के कानून राज से, महिलाएं सुरक्षित आज से लखनऊ मेट्रो में आगामी बसपा सरकार के पोस्टर अभी से लगना शुरू हो गए हैं, 2022 में बहन जी आ रही हैं सादर जय भीम जय संविधान."

बिलबोर्ड में भी अलग से टेक्स्ट में लिखा है, "जब बहुजन समाज पार्टी के सत्ता में आयेगी महिलायें सुरक्षित होंगी."

भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

बसपा की राष्ट्रीय अध्यक्षा मायावती ने अपने एक भाषण में भी कहा था कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के राज में महिलायें और दलित सुरक्षित नहीं हैं. 

बिल्कुल इसी दावे के साथ ये पोस्ट फ़ेसबुक पर यहां, यहां और ट्विटर पर यहां, यहां शेयर की गई हैं.

हालांकि दावा ग़लत है.

इस भ्रामक पोस्ट का जवाब देते हुए लखनऊ मेट्रो प्राधिकरण के एक प्रतिनिधि ने 25 फ़रवरी को AFP को बताया कि, "लखनऊ मेट्रो स्टेशन के अंदर ऐसा कोई भी पोस्टर नहीं लगाया गया है."

वायरल तस्वीर के बारे में बसपा के प्रवक्ता फ़ैज़ान खान ने 23 फ़रवरी को AFP को बताया, "ये बिलबोर्ड हमारी पार्टी का नहीं है, हमने लखनऊ में किसी भी मेट्रो स्टेशन के अंदर अपने चुनाव अभियान के होर्डिंग नहीं लगाये हैं."

डिज़ाइन टेम्पलेट 

रिवर्स इमेज सर्च में हमने पाया कि वायरल पोस्ट में शेयर की गई तस्वीर बिलबोर्ड जेनरेटर वेबसाइट Behance और Pikbest पर हूबहू एक डिज़ाइन से मिलती जुलती है. 

इस टेम्पलेट को डिजिटल तरीक़े से एडिट करके उसमें बसपा के चुनाव प्रचार बिलबोर्ड की तस्वीर फ़िट कर दी गई. 

नीचे वायरल फ़ेसबुक पोस्ट की तस्वीर (बायें) और Behance वेबसाइट की तस्वीर (दायें) के स्क्रीनशॉट के बीच एक तुलना है.

वायरल फ़ेसबुक पोस्ट की तस्वीर (बायें) और Behance वेबसाइट की तस्वीर (दायें) के स्क्रीनशॉट के बीच एक तुलना ( Uzair RIZVI)
( Uzair RIZVI)