यूक्रेन पर हमले का नहीं, ये वीडियो 2020 में आयोजित रूसी विजय दिवस का है

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि कुछ लड़ाकू विमान रूस के पड़ोसी देश यूक्रेन में घुस रहे हैं. रूस के राष्ट्रपति पुतिन की यूक्रेन पर हमले की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगा. हालांकि वीडियो को गलत संदर्भ के साथ शेयर किया जा रहा है; साल 2020 से ही सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा ये वीडिओ रूस में विजय दिवस के दौरान एक एयर शो के पूर्वाभ्यास का है.

लगभग 31 सेकेंड की इस वीडियो क्लिप को ट्विटर पर 24 फ़रवरी 2022 को यहां शेयर किया गया है जहां इसे अब तक 204,000 से भी ज़्यादा बार देखा जा चुका है.

वीडियो में लगभग दस विमान एक आबादी वाले क्षेत्र में घुसते दिखाई दे रहे हैं जिनके साथ एक साइरन भी सुनाई दे रहा है.

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है: "रूस के लड़ाकू विमान यूक्रेन में घुसते हुए. #RussiaUkrainConflict #worldwar3."

भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

वीडियो को इसी दावे के साथ ट्विटर पर यहां, यहां और यहां शेयर किया गया है जहां इसे 130,000 बार देखा जा चुका है. फ़ेसबुक पर भी ये वीडियो यहां और यहां शेयर किया गया है.

वीडियो को इसी दावे के के साथ हंगेरियन, स्पैनिश, मलेशिया, बर्मन और चाइनीज़ जैसी अनेक भाषाओं में भी शेयर किया गया है.

रूस के राष्ट्रपति पुतिन की 24 फ़रवरी 2022 को पड़ोसी देश यूक्रेन में सैन्य ऑपरेशन शुरू करने की घोषणा के कुछ घंटों बाद ही ये पोस्ट सोशल मीडिया पर शेयर की जाने लगी.

AFP की रिपोर्ट के मुताबिक़ कुछ देर बाद ही यूक्रेन की राजधानी कीव और अन्य शहरों में धमाके की खबरें आने लगी थीं.

हालांकि वीडियो को गलत संदर्भ के साथ शेयर किया गया है.

वीडियो को यांडेक्स सर्च इंजन पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें इसका लंबा हिस्सा 4 मई 2020 के एक यूट्यूब वीडियो में यहां मिला.

वीडियो के कैप्शन में रूसी भाषा में लिखा है: "परेड अभ्यास 05/04/2020 वायु भाग. टुशिनो के ऊपर विमान की उड़ान."

अलसी फ़ुटेज में सायरन की आवाज़ नहीं सुनाई देती है.

टुशिनो शहर रूस की राजधानी मास्को के उत्तर में स्थित है.

नीचे भ्रामक पोस्ट के वीडियो (बायें) और यूट्यूब के वीडियो (दायें) के स्क्रीनशॉट के बीच एक तुलना है.

भ्रामक पोस्ट के वीडियो (बायें) और यूट्यूब के वीडियो (दायें) के स्क्रीनशॉट के बीच एक तुलना

उसी दिन यूट्यूब पर अपलोड किये गये एक और संकलित वीडियो में भी ये वायरल फ़ुटेज यहां देखने को मिलती है. इसके टाइटिल में लिखा है: "फ्लाईबाई मास्को (04 मई 2020)."

वीडियो में सैन्य विमानों के लिये कैप्शन भी शामिल है, जो कि दावे के मुताबिक़ फ़ुटेज में दिख रहे हैं जिसमें - TU-95, TU-160 और TU-22 शामिल हैं.

विजय दिवस समारोह

रूस सरकार के स्वामित्व वाली समाचार एजेंसी RIA नोवोस्ती ने 4 मई 2020 को बताया कि मास्को में देश के विजय दिवस परेड के लिये एक एयर शो का पूर्वाभ्यास चल रहा था.

इसके बाद 4 मई, 2020 को एक फ़ोटो गैलरी भी प्रकाशित की गई थी.

इसमें विमानों को बिल्कुल उसी तरह उड़ते हुए दिखाया गया है जैसा कि भ्रामक वीडियो में देखा जा सकता है.

भ्रामक पोस्ट के वीडियो के स्क्रीनशॉट (बायें) और RIA नोवेस्ती की तस्वीर (दायें) के बीच एक तुलना है.

भ्रामक पोस्ट के वीडियो के स्क्रीनशॉट (बायें) और RIA नोवेस्ती की तस्वीर (दायें) के बीच एक तुलना

रिपोर्ट के अनुसार 9 मई को मुख्य विजय दिवस परेड रद्द कर दी गई थी, लेकिन एयर शो आगे बढ़ने के लिए तैयार था.

रूस की विजय दिवस परेड द्वितीय विश्व की समाप्ति के अवसर पर आयोजित किया जाने वाला एक वार्षिक समारोह है जो 2020 में कोरोना प्रतिबंधों की वजह से नहीं हो पाया.

हालांकि AFP की 9 मई 2020 की रिपोर्ट में बताया गया कि इस अवसर पर लड़ाकू विमान, बमवर्षक विमान और हेलीकॉप्टर शहर के ऊपर से उड़ते हुए देखे गये थे.

बाद में 24 जून 2020 को विजय दिवस की 75वीं वर्षगांठ समारोह के लिये एक भव्य सैन्य परेड आयोजित की गई.

रूस और यूक्रेन के बीच बढ़ते सैन्य और कूटनीतिक तनाव के बीच ऑनलाइन भ्रामक खबरों की बाढ़ की आ गई है.

यूक्रेन संघर्ष