इस बच्चे ने अकेले नहीं, अपने परिवार के साथ ही यूक्रेन पोलैंड बॉर्डर पार किया था

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर एक वीडियो को लाखों बार देखा जा चुका है जिसे शेयर कर दावा किया जा रहा है कि युद्ध ग्रस्त यूक्रेन से एक छोटा बच्चा रोते हुए अकेले ही पड़ोसी देश पोलैंड की तरफ़ रवाना हो गया. ये दावा भ्रामक है. इस वीडियो को शूट करने वाली रॉयटर्स न्यूज एजेंसी ने AFP को बताया कि वीडियो के दूसरे हिस्से में वो लड़का अपनी मां के साथ चलते हुए देखा जा सकता है. पोलैंड के सीमा सुरक्षा बलों ने भी ये स्पष्ट किया कि उस बच्चे ने अपने परिवार के साथ ही पोलैंड की सीमा में प्रवेश किया था.

वीडियो को यहां दैनिक भास्कर के फेसबुक पेज पर 8 मार्च, 2022 को शेयर किया गया है.

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, "11 साल के मासूम का अकेला सफर: यूक्रेन से जान बचाकर 1100 किमी दूर स्लोवाकिया बॉर्डर पहुंचा बच्चा; हाथ पर लिखे नंबर ने रिश्तेदारों से मिलवाया."

मार्च 18, 2022 को लिया भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद से ही अब तक लगभग 35 लाख यूक्रेनी लोग देश से पलायन कर चुके हैं. AFP ने इस बारे में यहां रिपोर्ट किया था.

विस्थापन करने वाले 10 लोगों में लगभग 6 लोगों ने पोलैंड की सीमा पार की है. उनमें से कई लोग यूक्रेन से पश्चिम की तरफ़ पोलैंड, हंगरी और स्लोवाकिया की तरफ रवाना हुए जहां से फिर वे यूरोप के शेंगेन ओपन बॉर्डर जोन की तरफ चले गए.

वीडियो को अब तक कई लाख बार देखा जा चुका है. इसी दावे के साथ इसे फेसबुक पर यहां और यहां; ट्विटर पर यहां शेयर किया गया है.

लेकिन दावा भ्रामक है.

गूगल कीवर्ड सर्च करने पर हमें बिलकुल वही वीडियो यहां ताइवान के एक अख़बार यूनाइटेड डेली न्यूज़ द्वारा 8 मार्च, 2022 को प्रकाशित किया गया मिला.

चीनी भाषा की इस रिपोर्ट के एक हिस्से में लिखा था, "पोलैंड के दक्षिण पूर्वी हिस्से में एक सीमावर्ती इलाके मिडेका में एक वीडियो जर्नलिस्ट ने एक बच्चे का वीडियो बनाया जो अकेले रोता हुआ और चलता हुआ नजर आ रहा है."

अखबार ने रॉयटर्स न्यूज एजेंसी को वीडियो का क्रेडिट देते हुए आगे लिखा कि, "अच्छी खबर ये है कि पोलैंड के सीमा सुरक्षाबलों द्वारा दी गई खबर के मुताबिक वो छोटा बच्चा अकेला नहीं है. वो अपने परिवार के साथ था और अभी पोलैंड में सुरक्षित है."

नीचे भ्रामक पोस्ट के वीडियो (बाएं) और यूनाइटेड डेली न्यूज रिपोर्ट (दाएं) के वीडियो के स्क्रीनशॉट के बीच एक तुलना है.

भ्रामक पोस्ट के वीडियो (बाएं) और यूनाइटेड डेली न्यूज रिपोर्ट (दाएं) के वीडियो के स्क्रीनशॉट के बीच एक तुलना

भ्रामक पोस्ट के बारे में पूछने पर राइटर्स ने AFP को बताया कि, "वीडियो की शुरुआत में दिख रहा लड़का अकेला नहीं है वीडियो के अगले शॉट में ही उसे उसकी मां के साथ देखा जा सकता है."

वीडियो के दूसरे हिस्से को नीचे देखा जा सकता है जिसमें लोगों के एक समूह को बच्चे के आगे चलते हुए दिख रहा है.

A screenshot of the second part of the footage

पोलैंड के सीमा सुरक्षा बल ने भी ये स्पष्ट किया कि वायरल फुटेज के छोटे बच्चे को अकेले पोलैंड का बॉर्डर पर करते नहीं दिखाती है.

पोलैंड के सीमा सुरक्षा बल के ट्विटर अकाउंट से 8 मार्च, 2022 को पोस्ट किए गए एक बयान में लिखा है, "हम आपको सूचित करना चाहते हैं की दुर्भाग्य से मीडिया में शेयर की गई एक जानकारी गलत है. चार वर्षीय वेलेरिज ने अकेले पोलैंड की सीमा पार नहीं की है वह अपने परिवार के साथ था."

यूक्रेन संघर्ष