महिला को नाले से खींचकर निकालने का ये वायरल वीडियो कहाँ से है?

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.
 

फ़ेसबुक और ट्विटर पर एक महिला को नाले से खींचकर बचाने का वीडियो शेयर करते हुए दावा किया गया कि ये घटना प्रयागराज की है. ये दावा भ्रामक है:  ये घटना 23 अगस्त, 2022 को राजधानी दिल्ली में घटी थी. AFP ने वीडियो बनाने वाले एक सामाजिक कार्यकर्ता से इसकी पुष्टि भी की. 

फ़ेसबुक पर 30 अगस्त को वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा गया, “ये कोई नदी नहीं उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिला की सड़क है.”

इसे 4,800 से ज़्यादा बार देखा जा चुका है. वीडियो में कुछ लोग एक महिला को सड़क पर बने गहरे गड्ढे से खींचकर बाहर निकाल रहे हैं जिसमें वो सफ़ल रहते हैं.

भ्रामक वीडियो का 5 सितम्बर, 2022 को लिया गया स्क्रीनशॉट

फ़ेसबुक पर ये दावा यहां और यहां; और ट्विटर पर यहां और यहां शेयर किया गया.

बता दें कि बीते दिनों भारी बारिश के बाद प्रयागराज में बाढ़ की स्थिति देखने को मिली थी. 

इस वर्ष कई दक्षिण एशियाई देशों जैसे भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान में मौसमी बारिश के बाद बाढ़ की स्थिति बन गयी और लाखों लोगों को सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचना पड़ा.

हालांकि वायरल वीडियो के साथ किया गया दावा भ्रामक है.

वीडियो के कीफ़्रेम का रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें इस वीडियो का लम्बा संस्करण एक फ़ेसबुक पोस्ट में मिला . इसके कैप्शन के मुताबिक घटना बरवाला रोड की है, जो कि दिल्ली के उत्तर पश्चिमी इलाके बेगमपुर में है.

ये पोस्ट 23 अगस्त को किया गया था और वीडियो अपलोड करने वाले यूज़र ‘सचिन दिल्ली’ ने लिखा कि उसने महिला को खड्ढे में गिरते देखा था जिसके बाद लोगों ने उसे बाहर निकाला.

नीचे भ्रामक पोस्ट के स्क्रीनशॉट (बाएं) के साथ 'सचिन दिल्ली' के वीडियो (दाएं) की तुलना देख सकते हैं. 

Screenshot comparison of the video shared in misleading posts (L) and Sachin Delhi's video (R)

बरवाला रोड की गूगल मैप्स की स्ट्रीट व्यू देखने पर भी साबित होता है कि वीडियो में सही जगह बताई गयी है. उदाहरण के लिए, वीडियो में दिखने वाले फ़ैशन वर्ल्ड की दुकान और हिराज़ मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल भी मैप पर दिखाई देते हैं.

नीचे वीडियो में दिखने वाली दुकान (बाएं) और मैप पर दिखने वाली दुकान की तस्वीर (दाएं) के बीच तुलना देखी जा सकती है:

बेगमपुर इलाके में रेसिडेंट्स वेलफ़ेयर एसोसिएशन के सलाहकार और सामाजिक कार्यकर्ता सचिन ने बताया कि वायरल हो रहा वीडियो उन्होंने ही 23 अगस्त को बरवाला रोड पर रिकॉर्ड किया था. 

उन्होंने AFP से कहा, “मैं एक सामाजिक कार्यकर्ता हूं और मैं अपनी टीम के साथ बारिश के बाद जलभराव वाले इलाके का वीडियो बना रहा था.”

उन्होंने आगे कहा, “हमने अचानक एक महिला को नाले में गिरते हुए देखा. शुक्र है उन्हें बाहर निकाल लिया गया.”

सचिन ने 23 अगस्त को वीडियो ट्वीट करते हुए स्थानीय प्रशासन से रोड की मरम्मत की मांग भी की थी.