अमेरिकी कार्टूनिस्ट बेन गैरिसन के नाम से वायरल ये कार्टून एडिटेड है

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर वायरल एक कार्टून के साथ दावा किया गया है कि इसे अमेरिकी कार्टूनिस्ट बेन गैरिसन ने भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसते हुए बनाया है. कार्टून में एक गाय नज़र आती है जिसके ऊपर बीजेपी लिखा है. हालांकि वायरल पोस्ट के साथ किया गया दावा फ़र्ज़ी है: कार्टून असल में एडिट किया हुआ है जिसका ओरिजिनल वर्ज़न भारतीय कार्टूनिस्ट अमल मेधी ने बनाया था.

वायरल कार्टून में एक गाय भारत के नक़्शे के आकार का पत्ता खाते दिख रही है. साथ ही एक बाल्टी में गाय का गोबर इक्कठा हो रहा है जिसपर लिखा हुआ है - भारतीय जनता. वहीं दूसरी बाल्टी में गाय का दूध एकत्रित किया जा रहा है. उस बाल्टी पर लिखा है  - अंबानी अडानी. कार्टून के ज़रिये भारतीय जनता पार्टी पर तंज कसा गया है.

फ़ेसबुक पर 12 सितम्बर, 2022 को शेयर किये गए इस कार्टून के ऊपर लिखा है, “अमेरिकी कार्टूनिस्ट बेन गैरिसन ने अपने इस कार्टून 8 साल की कहानी बयां कर दी.”

पोस्ट के कमेंट सेक्शन को देख कर पता चलता है कि कई यूज़र्स ने इसे सही माना है. एक यूज़र  कमेंट में लिखा, “बिलकुल सही बात है.”

एक अन्य ने कहा, “ये हकीकत है लेकिन भक्तों को मियां से दिक्कत है इसलिए घल घल मोदी, हल हल मोदी.”

AFP को कांग्रेस और भाजपा का अलग अलग तरीके से मज़ाक बनाते हुए इसी कार्टून के फ़ेसबुक, ट्विटर और कोरा पर कई वर्ज़न मिले जो 2016 से ही पोस्ट किये जा रहे हैं. इन सभी में टेक्स्ट के मुताबिक इसे बेन गैरिसन ने बनाया है. 

ऐसे ही कार्टून फ़ेसबुक पर यहां और यहां शेयर किये गए. 

आपको बता दें असल कार्टून बंगाल के एक कार्टूनिस्ट अमल मेधी ने बनाया है जिसमें उन्होंने जनता पर ध्यान न देते हुए सरकार द्वारा निवेशकों को लाभ पहुंचाने की आलोचना की है. 

असल कार्टून में मेधी ने प्रत्यक्ष तौर से किसी पार्टी का नाम नहीं लिखा है. 

नीचे उनका असली कार्टून है जिसे उन्होंने सितम्बर 2015 में फ़ेसबुक पर पोस्ट किया था.

अमल मेधी ने AFP से बताया कि उन्होंने कई बार कमेंट में बताया है कि वायरल एडिट किया हुआ कार्टून उनका नहीं है.

उन्होंने कहा, “ये पोस्ट 2016 से ही वायरल हैं और मैं इसपर सफ़ाई भी दे चुका हूं. लेकिन इससे कुछ हासिल नहीं हुआ.”

उन्होंने आगे कहा, “मेरे काम को इस तरह एडिट कर गलत फायदा उठाना मुझे परेशान करता है, और इसके राजनैतिक प्रभाव भी हो सकते हैं. मैं आशा करता हूं ये सब जल्दी बंद हो.”

बेन गैरिसन ने भी एक ट्वीट के ज़रिये सफाई देते हुए कहा था कि ये कार्टून उनका नहीं है.

अनुवाद और अनुकूलन: