तस्वीर में राहुल गांधी के साथ दिख रही लड़की ने नहीं लगाए थे 2020 की रैली में 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद' के नारे

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर दो तस्वीरों के एक कोलाज को हज़ारों बार इस दावे के साथ शेयर किया गया है कि वो भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अमूल्य लियोना के साथ दिखाती हैं, जो फ़रवरी 2020 में सीएए (CAA) विरोधी रैली में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाज़ी करन के बाद चर्चा में आई थी. यह दावा गलत है. राहुल गांधी के साथ दिख रही महिला केरल की छात्र नेता मिवा जॉली है.

तस्वीरों को 'वी सपोर्ट बीजेपी इंडिया' नामक एक फ़ेसबुक ग्रुप में 26 सितंबर, 2022 को पोस्ट किया गया था.

पहली तस्वीर में एक महिला को हाथ में माइक पकड़े हुए मंच से भाषण देते हुए देखा जा सकता है.

दूसरी तस्वीर में एक महिला को मार्च के दौरान राहुल गांधी को गले लगाते हुए देखा जा सकता है.

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, “देशवासियों और हिन्दुओं आंखें खोलकर देखो राहुल गांधी जिस लड़की को गले लगा रहे हैं यह वही लड़की है जिसने ओवैसी की सभा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे.

सही मायने में राहुल गांधी देश तोडने चलें है सावधान हो जाओ वरना भागने को भी जगह नहीं मिलेगी.”

गलत दावे से शेयर की गई फ़ेसबुक पोस्ट का स्क्रीनशॉट, 26 सितंबर 2022

पोस्ट के दावे के अनुसार दोनों तस्वीरों में दिख रही महिला अमूल्या लियोना है, जो एक प्रदर्शनकारी छात्रा है, जिसे फ़रवरी 2020 में बैंगलोर में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी की नागरिकता संशोधन अधिनियम विरोधी एक रैली में 'पाकिस्तान ज़िंदाबाद’ के नारे लगाने के लिए पुलिस ने हिरासत में लिया था.

इस साल सितंबर में राहुल गांधी ने दक्षिण भारत से अपने समर्थकों के साथ भारत जोड़ो यात्रा का नेतृत्व किया, जिसे मीडिया रिपोर्टों के अनुसार स्थानीय लोगों का समर्थन मिल रहा है.

तस्वीरों को इसी तरह के दावे के साथ फ़ेसबुक पर यहां, यहां और ट्विटर पर यहां शेयर किया गया है.

हालांकि, ये दावा गलत है. दोनों ही तस्वीरें दो अलग-अलग महिलाओं को दिखाती हैं.

केरल की महिला छात्र नेता

तस्वीर को गूगल पर रिवर्स इमेज सर्च करने पर 24 सितंबर को कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद के सी वेणुगोपाल के एक ट्वीट में वही तस्वीरें मिलीं.

ऑनलाइन शेयर की गई एक पोस्ट के रिप्लाई में वेणुगोपाल ने लिखा कि दूसरी तस्वीर में राहुल गांधी के साथ केरल की 25 वर्षीया छात्र नेता मिवा जॉली हैं.

एक कीवर्ड सर्च में मिवा जॉली के इंस्टाग्राम अकाउंट पर 21 सितंबर, 2022 को पोस्ट की गई एक तस्वीर मिली जिसमें एक लड़की को राहुल गांधी से गले लगते हुए दिखाया गया है.

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है: “मैं मिवा जॉली KSU की एर्नाकुलम ज़िला महासचिव हूं.

"मैं एर्नाकुलम ज़िले के थेवक्कल नामक क्षेत्र में रहती हूं. जब मैंने 21 तारीख को भारत जोड़ो यात्रा के साथ एर्नाकुलम ज़िला में प्रवेश किया तो मुझे अपने प्रिय राहुल गांधी के साथ यात्रा पर चलने और उनके साथ एक फ़ोटो लेने का अवसर मिला."

जॉली केरल के एपीजे अब्दुल कलाम टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी में इंजीनियरिंग की छात्रा हैं और छात्र संगठन केएसयू की ज़िला महासचिव हैं.

नीचे गलत दावे से शेयर की गई पोस्ट (बाएं) और जॉली के इंस्टाग्राम पोस्ट की तस्वीर (दाएं) के स्क्रीनशॉट की तुलना है:

मिवा जॉली ने AFP को बताया, "मेरी तस्वीर झूठे दावे के साथ शेयर की जा रही है चूंकि मेरा हेयरस्टाइल उस लड़की से मिलता-जुलता है इसलिये दक्षिणपंथी और कांग्रेस विरोधी लोग अपना एजेंडा चला रहे हैं. वे राहुल गांधी के इस मार्च के डर से इस तरह की हरकत कर रहे हैं."

2020 की CAA विरोधी रैली

अमूल्य लियोना के खिलाफ़ साल 2020 में आयोजित CAA विरोधी एक रैली के दौरान पुलिस ने भारतीय दंड संहिता (IPC) के राजद्रोह के आरोप में मामला दर्ज़ किया था.

स्थानीय मीडिया ने बताया कि 90 दिन जेल में बिताने के बाद उन्हें 10 जून 2020 को जमानत मिल गई.

नीचे गलत दावे से शेयर की जा रही पोस्ट (बायें) में अमूल्या लियोना की तस्वीर और उनके सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई तस्वीर (दायें) के स्क्रीनशॉट की तुलना है: