जलते हुए हेलीकॉप्टर की ये तस्वीर किस दुर्घटना से संबंधित है?

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

फ़ेसबुक और ट्विटर पर हवा में जलते हुए एक हेलीकॉप्टर की तस्वीर शेयर कर इसे केदारनाथ में हुई दुर्घटना से जोड़ा जा रहा है. इस हालिया घटना में सात लोगों की मौत हो गयी थी. हालांकि वायरल तस्वीर का इस घटना से कोई संबंध नहीं है. ये तस्वीर असली नहीं है बल्कि इटली के एक कलाकार जॉर्जियो कालदेरेतो की कृति है.

भाजपा सदस्य ओपी मिश्रा ने 18 अक्टूबर, 2022 को तस्वीर यहां ट्वीट करते हुए लिखा, “#केदारनाथ में हुए हादसे से हृदय व्यथित हैं. ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे एवं परिवार के साथ संवेदनाएँ. #Kedarnath.”

तस्वीर में एक हेलीकॉप्टर में आग लगती हुई नज़र आ रही है.

भ्रामक पोस्ट का 20 अक्टूबर, 2022 को लिया गया स्क्रीनशॉट


ये तस्वीर केदारनाथ में हुए हादसे के बाद से शेयर की जा रही है. देश के सबसे बड़े हिन्दू धर्मस्थलों में से एक केदारनाथ में 18 अक्टूबर, 2022 को तीर्थयात्रियों को ले जा रहा एक हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस घटना में पायलट समेत 7 लोगों की मौत हो गयी थी.

आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने AFP को बताया कि केदारनाथ मंदिर से यात्रियों को वापिस लाते समय हेलीकॉप्टर नीचे गिर गया जिसमें पायलट और छः तीर्थ यात्रियों की मौत हो गयी.

इस तस्वीर को कई भाजपा नेताओं ने ट्विटर पर यहां, यहां, यहां और यहां शेयर किया.

कई अन्य फ़ेसबुक यूज़र्स ने भी इसे यहां, यहां और यहां शेयर किया.

वायरल तस्वीर का रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें ये स्टॉक वेबसाइट्स iStock और ड्रीम्सटाइम में क्रमशः यहां और यहां मिली.

iStock पर मिली तस्वीर का 25 अक्टूबर, 2022 को लिया गया स्क्रीनशॉट

तस्वीर का क्रेडिट "giocalde" को दिया गया है और कैप्शन में लिखा गया है, “हवा में हेलीकॉप्टर में विस्फ़ोट होने का ज़मीन से नज़ारा. स्टॉक फ़ोटो.”

आगे और सर्च करने पर इसी हेलीकॉप्टर की मिलती-जुलती तस्वीर Alamy वेबसाइट पर यहां मिली जिसे 9 सितम्बर, 2012 को पोस्ट किया गया था.

अलामी पर मिली तस्वीर का 25 अक्टूबर, 2022 को लिया गया स्क्रीनशॉट

इसका क्रेडिट जॉर्जियो कालदेरेतो (Giorgio Calderato) को दिया गया है.

तस्वीर के डिस्क्रिप्शन में लिखा गया है, “09/09/2012 वल्दानो (इटली). हेलीकॉप्टर का हवा से फ़ोटोग्राफ़ी सर्वे. एम्प्रियोन GmbH यूरोप का एक महत्वपूर्ण ट्रांसमिशन सिस्टम ऑपरेटर है और 11.000 km लम्बा जर्मन एक्स्ट्रा-हाई वोल्टेज ग्रिड का संचालन करता है.”

इसी तस्वीर को शटरस्टॉक पर भी 9 सितम्बर, 2012 को यहां पोस्ट करते हुए “Giocaldo” को क्रेडिट दिया गया था जोकि “Giorgio Calderato” का ही शार्ट फ़ॉर्म है.

नीचे भ्रामक पोस्ट की तस्वीर (बाएं), iStock पर मिली असल तस्वीर (बीच में) और सही-सलामत हाल में उसी हेलीकॉप्टर की शटरस्टॉक पर मिली फ़ोटो (दाएं) के बीच तुलना देख सकते हैं:

भ्रामक पोस्ट की तस्वीर (बाएं), iStock पर मिली असल तस्वीर (बीच में) और सही-सलामत हाल में उसी हेलीकॉप्टर की शटरस्टॉक पर मिली फ़ोटो (दाएं) के बीच तुलना

जॉर्जियो कालदेरेतो की शटरस्टॉक प्रोफ़ाइल के मुताबिक वो एक विज़ुअल आर्टिस्ट और वीडियोग्राफ़र है.

उन्होंने AFP को बताया, “मैं इस बात की पुष्टि करता हूं कि धमाका होते हुए हेलीकॉप्टर की ये फ़ोटो असली नहीं है, इसे मैंने फ़ोटोशॉप पर बनाया था.”