इंडिया टुडे टीवी में गेस्ट एंकर बने संबित पात्रा का पुराना वीडियो एडिट कर गलत दावे से वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2023. सर्वाधिकार सुरक्षित.

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा की एक पुरानी वीडियो को एडिट कर गलत दावे से सोशल पर हज़ारों बार शेयर किया गया है. वीडियो के साथ दावा किया जा रहा है कि वो अब न्यूज़ चैनल NDTV पर एंकरिंग करते नज़र आयेंगे. अडानी ग्रुप द्वारा चैनल के अधिग्रहण की खबर और संपादकीय स्वतंत्रता को लेकर NDTV के एंकर रवीश कुमार के इस्तीफ़े के बाद से ही ये वीडियो वायरल है. हालांकि ये वीडियो असल में 2018 में संबित पात्रा को इंडिया टुडे के एक कार्यक्रम को होस्ट करते हुए दिखाता है. पात्रा ने AFP को बताया कि वायरल दावा गलत है.

वीडियो को ट्विटर पर 2 दिसंबर 2022 को शेयर किया गया जिसके कैप्शन में लिखा है, “संबित पात्रा अब से NDTV पर एंकरिंग करेंगे.”

लगभग 29-सेकेंड की इस वीडियो क्लिप को 570 बार रिट्वीट किया गया है और 29,000 से अधिक बार देखा जा चुका है.

वीडियो में दिख रहा है कि भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा एक कार्यक्रम की एंकरिंग कर रहे हैं. वीडियो के दाएं कोने में सबसे ऊपर समाचार चैनल NDTV का लोगो दिखाई दे रहा है.

1 दिसंबर को शुरू हुए गुजरात के पहले चरण के चुनाव के बारे में वीडियो के किनारे एक बैनर देखा जा सकते हैं, जिसमें एक "#ElectionsWithNDTV" लिखा हुआ है.

कार्यक्रम की शुरुआत में पात्रा अंग्रेज़ी में कहते हैं: "'टू द पॉइंट' के वीकेंड स्पेशल में आपका स्वागत है. लेकिन इससे पहले कि मैं शुरू करूं, मैं एक संकल्प लूंगा,

"मैं एक वादे के साथ शुरुआत करना चाहता हूं कि मैं एंकर की सीट पर तटस्थ और गैर-पक्षपातपूर्ण रहूंगा और आज सभी को बोलने का बराबर मौका दूंगा."

इसके बाद पात्रा चर्चा के विषय और शो के अन्य मेहमानों का परिचय देते हैं.

गलत दावे से शेयर की जा रही पोस्ट का 6 दिसंबर 2022 को लिया गया स्क्रीनशॉट

ज्ञात हो कि उद्योगपति गौतम अडानी द्वारा NDTV के अधिग्रहण के बाद से ही मीडिया की स्वतंत्रता और स्वायत्ता पर बहस तेज़ हो गई है.

वीडियो को इसी दावे के साथ फ़ेसबुक पर यहां, यहां और ट्विटर पर यहां शेयर किया गया है.

पोस्ट पर यूज़र्स के कमेंट्स से भी प्रतीत होता है कि वे इस दावे पर यकीन कर रहे हैं.

एक यूज़र ने कमेंट में लिखा; “संबित पात्रा का NDTV का प्राइम टाइम एंकर बनना आज इंटरनेट पर सबसे विचित्र खबर है."

एक अन्य ने लिखा, "कोरोना वायरस के दौर में एक डॉक्टर होने के बावजूद, वह किसी को ठीक नहीं कर सका ये क्या खाक पत्रकार बनेगा. वह झूठ बोलना और चापलूसी करना जानता है."

हालांकि पात्रा ने AFP को बताया कि यह दावा गलत है. सोशल मीडिया पोस्ट में इस दावे से शेयर की गई क्लिप पुरानी है और इसे भ्रामक तरीके से एडिट किया गया है.

इंडिया टुडे में गेस्ट एंकर

इस दावे के बारे में पूछे जाने पर संबित पात्रा ने 7 दिसंबर को AFP को बताया, "इस वीडियो को मॉर्फ़ करके गलत दावे के साथ शेयर किया गया है."

गूगल पर की-वर्ड्स सर्च करने पर हमें इंडिया टुडे के वेरीफ़ाइड चैनल पर इस क्लिप का एक लंबा वीडियो वर्ज़न मिला, जिसे 3 जून, 2018 को अपलोड किया गया था.

यूट्यूब पर वीडियो के डिस्क्रिप्शन में अंग्रेज़ी में लिखा है, "बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा इंडिया टुडे के 'टू द पॉइंट' शो की एंकर सीट पर हैं ताकि चर्चा की जा सके कि एकजुट विपक्ष मोदी के लिए एक वास्तविक चुनौती है या नहीं."

इंडिया टुडे के वरिष्ठ पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने भी 4 जून, 2018 को अपने वेरीफ़ाइड ट्विटर अकाउंट पर वीडियो का एक लिंक शेयर किया था.

नीचे भ्रामक पोस्ट में शेयर की गई क्लिप (बाएं) और इंडिया टुडे के यूट्यूब चैनल पर अपलोड किए गए वीडियो (दाएं) के स्क्रीनशॉट की तुलना की गई है:

भ्रामक पोस्ट में शेयर की गई क्लिप काफ़ी हद तक यूट्यूब वीडियो में 39-सेकंड से शुरू होने वाले भाग से मेल खाती है. हालांकि इसमें से उस हिस्से को हटा दिया गया है जहां पात्रा ने गेस्ट एंकर के रूप में अपना परिचय दिया था.

यूट्यूब वीडियो में ऊपर-दाएं कोने में इंडिया टुडे का लोगो है, न कि NDTV का जैसा कि भ्रामक पोस्ट में शेयर की गई क्लिप में देखा जा सकता है.

वीडियो के किनारे लगे टिकर में भी गुजरात चुनाव का ज़िक्र नहीं था और इसके बजाय समाचारों की सुर्खियां दिखाई गई हैं.

वीडियो के 52-सेकंड पर, स्क्रीन पर "गौरी को हिंदू विरोधी विचारों के लिए मार डाला गया" टिकर इंग्लिश में लिखा हुआ दिखाया गया है. बाद में की-वर्ड्स सर्च करने पर हमें इंडिया टुडे की वेबसाइट पर जून 2018 में प्रकाशित इससे संबंधित एक खबर दिखाई दी.

इंडिया टुडे द्वारा किये गये कार्यक्रमों की जून 2018 तक की सूची, वेबैक मशीन पर यहां देखी जा सकती है जिससे पता चलता है कि चैनल सप्ताह के अंत में अपने "टू द प्वाइंट" कार्यक्रम के लिए गेस्ट एंकर बुलाता है.

कार्यक्रम के विवरण में लिखा है, "हमने अपने मेहमानों के लिए दांव बदल दिए हैं."

अब, प्रत्येक सप्ताह के अंत में एक बहस को मॉडरेट करने के लिए गेस्ट एंकर की सीट पर हम अपने मेहमानों को बुलायेंगे और देखेंगे कि क्या वे तटस्थ और गैर-पक्षपातपूर्ण होने के अपने वादे को पूरा करते हैं."