जस्टिस जे.बी. पार्डीवाला के नाम से वायरल इस तस्वीर में दिख रहे व्यक्ति वरिष्ठ पत्रकार एन राम हैं

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर करते हुए ये दावा किया जा रहा है कि इसमें जस्टिस जे.बी. पार्डीवाला और जस्टिस सूर्य कान्त कुछ वामपंथी नेताओं और पत्रकारों के साथ भोजन करते हुए देखे जा सकते हैं. ज्ञात रहे कि इन दोनों जजों की एक वेकेशन बेंच ने पैगंबर मुहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाली भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा को फटकार लगाई थी. हालांकि ये दावा गलत है; वायरल तस्वीर में सुप्रीम कोर्ट के जज नहीं बल्कि कुछ वरिष्ठ पत्रकार और राजनेता दिखाई दे रहे हैं.

इस तस्वीर को फ़ेसबुक पर 6 जुलाई को शेयर किया गया है.

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, “सुप्रीम कोर्ट के दोनों जज, सूर्य कांत और पार्डीवाला नक्सली गैंग के साथ. प्रणब रॉय मौजूद हैं, फिर राधिका रॉय, वृंदा करात और कुछ अन्य हैं. देखिए, फैसला सुनाने वाले और भड़काऊ टिप्पणी करने वाले तथाकथित सुप्रीम कोर्ट के जज किसके साथ लंच कर रहे हैं?”

गलत दावे से शेयर की जा रही पोस्ट का स्क्रीनशॉट, 7 जुलाई 2022.

तस्वीर को इसी दावे के साथ फ़ेसबुक पर यहां, यहां और ट्विटर पर यहां शेयर किया गया है.

हालांकि ये दावा गलत है; शेयर की जा रही तस्वीर में सुप्रीम कोर्ट के जज नहीं है.

पत्रकार एन राम

एक कीवर्ड सर्च में हमें वरिष्ठ पत्रकार एन राम का एक ट्वीट मिला, जिसमें एक सोशल मीडिया यूज़र को कोट ट्वीट किया गया है जिसने अपनी पोस्ट में दो लोगों को जस्टिस सूर्य कांत और पार्डीवाला बताया था.

उन्होंने कैप्शन में लिखा, "आप जिन दो व्यक्तियों को भारत के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न्यायमूर्ति जे.बी. पार्डीवाला बता रहे हैं, वे तमिलनाडु के वित्त मंत्री डॉ पी त्यागराजन (PTR) और मैं, एन राम हैं."

एन राम ने AFP को बताया कि फ़ोटो में सबसे आगे दाईं ओर वो बैठे हुए हैं, जबकि उनके बगल में बैठे व्यक्ति का नाम डॉ पी त्यागराजन है जो तमिलनाडु के वित्त मंत्री हैं, और ये तस्वीर 1 जुलाई, 2022 को तमिलनाडु में नीलगिरी ज़िले के माइंडएस्केप रेस्टोरेंट में ली गई थी.

उन्होंने कहा, "मैं इसकी पुष्टि करता हूं कि इस तस्वीर में न तो न्यायमूर्ति सूर्यकांत और न ही भारत के सर्वोच्च न्यायालय के न्यायमूर्ति जे.बी. पार्डीवाला मौजूद हैं."

AFP को माइंडएस्केप के ट्विटर अकाउंट पर 3 जुलाई को पोस्ट की गई वही तस्वीर मिली.

ट्वीट के कैप्शन में लिखा है, "तमिलनाडु के वित्त मंत्री, श्री पी त्यागराजन, डॉ प्रणय रॉय और श्रीमती राधिका रॉय, श्रीमती बृंदा करात और श्री प्रकाश करात, श्रीमती और श्री एन राम और दीपाली सिकंद के साथ एक शेफ का टेबल सत्र."

पी त्यागराजन का पूरा नाम पलानीवेल त्यागराजन है, जो 2021 में तमिलनाडु के वित्त मंत्री बने और राज्य की सत्तारूढ़ द्रविड़ मुनेत्र कड़गम पार्टी का प्रतिनिधित्व करते हैं.

नीचे गलत दावे से शेयर की जी रही पोस्ट की तस्वीर (बायें) और माइंडस्केप के ट्विटर पर अपलोड तस्वीर (दायें) के स्क्रीनशॉट के बीच एक तुलना है.

तस्वीर में दिख रहे लोगों का परिचय निम्न है: सामने से दाईं ओर: एन. राम, द हिंदू के पूर्व प्रधान संपादक और द हिंदू पब्लिशिंग ग्रुप के निदेशक; तमिलनाडु के वित्त मंत्री डॉ. पी. त्यागराजन; प्रकाश करात, माकपा के पोलित ब्यूरो सदस्य; और दीपाली सिकंद, चीफ इंस्पिरेशन ऑफिसर और माइंडएस्केप्स की संस्थापक.

सामने से बाईं ओर: एन राम की पत्नी और टीएनक्यू टेक्नोलॉजीज की प्रबंध निदेशक मरियम राम; डॉ प्रणय रॉय, एनडीटीवी समूह के कार्यकारी सह-अध्यक्ष; बृंदा करात, माकपा की पोलित ब्यूरो सदस्य; और राधिका रॉय, एनडीटीवी समूह की कार्यकारी सह-अध्यक्ष हैं.

नूपुर शर्मा विवाद