रूस के यूक्रेन पर हमले से जोड़ पुराने हवाई टक्कर की तस्वीर वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

तमाम सोशल मीडिया पोस्ट और न्यूज़ रिपोर्ट्स में रूस के यूक्रेन पर हमले से जोड़कर एक जलते हुए फाइटर जेट की तस्वीर इस दावे से शेयर की जा रही है कि यूक्रेन की सेना ने रूस के फाइटर प्लेन को मार गिराया है. लेकिन जिस फ़ोटोग्राफ़र ने ये तस्वीर खींची है उसने AFP को बताया कि ये 1993 में ली गई थी. ये तस्वीर दशकों पुरानी एक रिपोर्ट में छपी एक रूसी एयरक्राफ़्ट की है जो ब्रिटेन में एक एयरशो के दौरान क्रैश हुआ था.

ट्विटर पर 24 फ़रवरी को शेयर करते हुए इसके कैप्शन में लिखा गया है, "6 विमान रूस के यूक्रेन ने ध्वस्त किये। अगर ये देश यहीं नहीं रुके तो इनकी लपटें चारों तरफ़ फैलेंगीं."

तमाम प्रतिबंधों और मानवीय संकट की चेतावनियों के बावजूद भी रूस ने यूक्रेन में अपना हमला जारी रखा है. यूक्रेन के दूसरे शहर खार्किव में एक रिहायशी ब्लॉक और राजधानी कीव में मुख्य टीवी टावर में घातक रूसी हवाई हमलों के कारण मरने वालों की संख्या बढ़ गई है.

Screenshot of the false post. Captured March 2, 2022.

घटना से जुड़े तमाम अपडेट AFP की रिपोर्ट में देखें.

रूस के यूक्रेन पर हमले से जोड़कर बिल्कुल यही तस्वीर हिंदी की न्यूज़ रिपोर्ट्स में यहां और यहां शेयर की गई है.

हालांकि तस्वीर के बारे में किया जा रहा दावा ग़लत है.

यांडेक्स सर्च इंजन पर तस्वीर को रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमने पाया कि ये तस्वीर एविएशन वेबसाइट एयर टीम इमेजेज पर यहां प्रकाशित एक तस्वीर का मिरर वर्जन है. वेबसाइट के अनुसार यह तस्वीर कार्ल फ़ोर्ड द्वारा फेयरफोर्ड यूनाइटेड किंगडम में 24 जुलाई, 1993 को ली गई थी.

फ़ोटो के कैप्शन में लिखा है, "दो रूसी मिग 29 के बीच टक्कर के सीक्वेंस की पहली तस्वीर. इस घटना में कोई भी गंभीर रूप से घायल या मारा नहीं गया."

नीचे वायरल पोस्ट की तस्वीर (बायें) और एयर टीम इमेजेज द्वारा प्रकाशित तस्वीर (दायें) के बीच एक तुलना है.

वायरल पोस्ट की तस्वीर (बायें) और एयर टीम इमेजेज द्वारा प्रकाशित तस्वीर (दायें) के बीच एक तुलना ( Uzair RIZVI)

फ़ोर्ड ने बिल्कुल यही तस्वीर अपने फ्लिकर अकाउंट में बिल्कुल इसी जानकारी के साथ 15 अक्टूबर 2015 को पोस्ट की है.

फ़ोर्ड ने AFP को बताया कि, "ये मेरा फ़ोटोग्राफ़ है और यह 24 जुलाई 1993 को अपने Nikon F.3HP कैमरे पर मोटर डाइव के साथ लिये गये रूसी विमानों की क्रमशः 11 तस्वीरों में से एक है."

मैं वहां व्यक्तिगत तौर पर गया था लेकिन मैंने "अपने कुछ फ़ोटोग्राफ़ एयर टीम इमेजेज को भी बेंचे थे."

ब्रिटिश अख़बार द इंडिपेंडेंट ने इस घटना की कवरेज 26 जुलाई 1993 को की थी.

रिपोर्ट में लिखा है, "सप्ताह के आख़िरी में दुनिया के सबसे बड़े एयरशो में दो रूसी लड़ाकू विमानों के बीच हवाई टक्कर के कारणों की रॉयल एयर फ़ोर्स द्वारा जांच शुरू की गई है."

3 नवंबर 1993 को यूनाइटेड किंगडम की संसद की रिपोर्ट में भी इस दुर्घटना का उल्लेख किया गया था.

24 फ़रवरी को रूसी सैनिकों द्वारा यूक्रेन पर हमला शुरू करने के बाद से ही इससे जुड़ी तमाम ग़लत और भ्रामक खबरें वायरल हो रही हैं. इन वायरल दावों का खंडन करती AFP की रिपोर्ट यहां पढ़ें.

( Uzair RIZVI)
यूक्रेन संघर्ष