ये तस्वीर कनाडा में आयोजित लंगर की है, न कि यूक्रेन की

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

रूस द्वारा कब्ज़े के मकसद से यूक्रेन पर हमला जारी है और इसी बीच एक और भ्रामक तस्वीर शेयर करते हुए कहा गया कि इसमें सिख समुदाय के लोग तनाव में फंसे लोगों को खाना बांट रहे हैं. लेकिन ये दावा ग़लत है: इस पुरानी तस्वीर में कनाडा के ब्रैम्पटन में सिख समुदाय एक पहल शुरू करते हुए फ़ूड ट्रक से लंगर की हैं.

ये तस्वीर 26 फ़रवरी को यहां ट्वीट करते हुए लिखा गया, "यूक्रेन में सिख समुदाय की पहल."

इस तस्वीर में लोग एक फ़ूड ट्रक के सामने कहना खा रहे हैं जिसपर "Free food" और "Guru Nanak's Langar GoodBye Hunger" लिखा हुआ है.

भ्रामक ट्वीट का स्क्रीनशॉट

रूस ने 24 फ़रवरी को यूक्रेन के कई शहरों पर हमला कर दिया जो अभी जारी है. यूक्रेन पर कब्ज़ा करने के मकसद से लगातार भारी बमबारी और मिसाइल हमले में यूक्रेन के सैकड़ों लोग मारे जा चुके हैं. स्थानीय अधिकारीयों ने 2 मार्च को खेरसॉन पर रूस द्वारा कब्ज़ा किये जाने की पुष्टि की.

इस तनाव के शुरू होने से अबतक लगभग 10 लाख यूक्रैनियाई नागरिक अपना देश छोड़कर जा चुके हैं.

ये तस्वीर अन्य फ़ेसबुक यूज़र्स ने यहां और यहां; और ट्विटर यूज़र्स ने यहां, यहां और यहां शेयर की.

लेकिन तस्वीर के साथ ये दावा ग़लत है.

इस तस्वीर का रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमें 2018 का एक ट्वीट मिला जिसमें इसे कनाडा का बताया गया है.

'वी द सिख्स' नाम के हैंडल द्वारा 6 अगस्त, 2018 को पोस्ट की गयी तस्वीर के कैप्शन में लिखा है, "कनाडा का पहला फ़ूड ट्रक– गुरुनानक देवजी का लंगर–गुडबाय हंगर."

'वी द सिख्स' द्वारा अपलोड की गयी तस्वीर

AFP ने ट्रक पर छपे 'SEWA' का कीवर्ड सर्च किया और हमें सिख समुदाय सिख सेवा सोसाइटी टोरोंटो द्वारा चलाये गए लंगर की पहल की जानकारी मिली.

ट्रक पर 'SEWA' को हाईलाइट करती हुई तस्वीर

सिख सेवा सोसाइटी टोरोंटो कनाडा में लंगर आयोजित करवाता है. इसकी वेबसाइट के मुताबिक, "स्वयंसेवियों को अपने साथ के नागरिकों को मुफ़्त भोजन प्रदान कर और सिख धर्म के बारे में शिक्षित कर समुदाय की मदद करने का गर्व है."

इसके इंस्टाग्राम हैंडल पर भी हमें वायरल हो रही तस्वीर मिली.

28 फरवरी, 2022 को पोस्ट की गयी इस तस्वीर के साथ में लिखा है, "संगठन का बोर्ड स्पष्ट करना चाहता है कि हमारी सारी सेवाएं GTA (Greater Toronto Area) में सिमित हैं और कनाडा के बाहर हमारा कोई ब्रांच नहीं है, कृपया फ़र्ज़ी ख़बर न फैलाएं."

सिख सेवा सोसाइटी के हैंडल से पोस्ट किया गया स्पष्टीकरण

AFP ने संगठन से संपर्क किया और उनके प्रवक्ता ने साफ़ किया कि ये तस्वीर पुरानी है और कनाडा की है, न कि यूक्रेन की.

उन्होंने कहा, "हमारा टोरोंटो के बाहर मुफ़्त भोजन सेवा का कोई अन्य ब्रांच नहीं है."

AFP ने सिख सेवा सोसाइटी के फ़रवरी 2022 के इंस्टाग्राम पोस्ट में टेक्स्ट की मदद से फ़ूड ट्रक सर्विस वाली जगह को मैप्स पर ढूंढा.

तस्वीर में दायीं तरफ़ टेक्स्ट में लिखा है, "Main Street N / Church Street W, Brampton."

टोरोंटो के ब्रैम्पटन में स्ट्रीट नॉर्थ और चर्च स्ट्रीट वेस्ट को गूगल स्ट्रीट व्यू में देखने पर तस्वीर वाली जगह से मिलती नज़र आती है.

टोरोंटो के ब्रैम्पटन में स्ट्रीट नॉर्थ और चर्च स्ट्रीट वेस्ट के स्ट्रीट व्यू (दाएं) और भ्रामक तस्वीर (बाएं) के बीच तुलना

ट्रक के पीछे शीशे की खिड़की वाली ऊंची ईमारत भी मैप पर साफ़ देखी है.

AFP ने इससे पहले भी यूक्रेन में चल रहे तनाव पर कई फ़ैक्ट-चेक रिपोर्ट्स यहां प्रकाशित की हैं.

यूक्रेन संघर्ष