फ़िलिस्तीनी आन्दोलनकारी अहद तमीमी के बचपन का वीडियो यूक्रेन युद्ध से जोड़ वायरल

कॉपीराइट AFP 2017-2022. सर्वाधिकार सुरक्षित.

सोशल मीडिया पर लाखों बार देखे जा चुके एक वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि युद्ध प्रभावित यूक्रेन की एक बच्ची रूस के एक सैनिक को अपने देश से भगाने की कोशिश कर रही है. लेकिन ये दावा गलत है: ये वीडियो पुराना है और वीडियो में दिख रही बच्ची दरअसल फ़िलिस्तीन की प्रसिद्ध महिला एक्टिविस्ट अहद तमीमी है जब 2012 में वो वेस्ट बैंक क्षेत्र में इजराइल के सैनिकों का विरोध कर रही थी.

वीडियो को यहां एक फ़ेसबुक पोस्ट में 27 फरवरी, 2022 को शेयर किया गया है जहां इसे 35 लाख से भी ज्यादा बार देखा जा चुका है.

भ्रामक पोस्ट का स्क्रीनशॉट

पोस्ट के कैप्शन में लिखा है, "देखो पुतिन (तानाशाह) जब ये जज्बा बाहर निकल आता है ना तब कोई जवाब नहीं होता.! बच्ची कह रही है निकलो हमारे देश से वरना मारूंगीं ... ये है असली देशभक्ति.”

इसी दावे से वीडियो को फ़ेसबुक पर यहां, यहां और ट्विटर पर यहां, यहां शेयर किया गया है.

रूस द्वारा यूक्रेन पर 24 फरवरी, 2022 से सैन्य हमले के बाद से ही ये वीडियो इस दावे से शेयर किया जाने लगा.

वेस्ट बैंक क्षेत्र का वीडियो

वायरल वीडियो यूक्रेन की लड़की को रूस के सैनिकों का विरोध करते नहीं दिखाता है.

वीडियो को कीवर्ड के साथ रिवर्स इमेज सर्च करने पर हमने पाया कि इसे गलत संदर्भ के साथ शेयर किया जा रहा है.

तस्वीरें यूट्यूब पर 24 दिसंबर, 2012 को शेयर किया वीडियो के स्क्रीनशॉट्स हैं. ये वीडियो तब का है जब अहद तमीमी की उम्र 11 साल थी और वो वेस्ट बैंक में इजराइल के एक सैनिक का विरोध कर रही थीं.

यूट्यूब पर 2012 में अपलोड किये गए वीडियो का स्क्रीनशॉट

तमीमी द्वारा सैनिक पर अपनी मुट्ठी तानकर विरोध करने का ये दृश्य दुनिया भर में काफ़ी चर्चित हुआ और 2012 में तुर्की के पूर्व प्रधानमंत्री रेचेप तैयप अर्दोगन द्वारा उनका स्वागत भी हुआ.

कई मीडिया आउटलेट्स द्वारा यहां, यहां और यहां इस वीडियो के बारे में रिपोर्ट भी किया गया है.

इजराइल और फ़िलिस्तीन पांच दशकों से अधिक समय से गाज़ा पट्टी और वेस्ट बैंक पर नियंत्रण के लिए संघर्ष कर रहे हैं.

इस घटना के बाद से ही तमीमी फ़िलिस्तीनी विरोध का प्रतीक बनकर दुनिया भर में उभरी.

2019 में AFP द्वारा ली गयी अहद तमीमी की तस्वीर ( AFP / Daniel Leal)

वेस्ट बैंक में अपने घर के सामने दो इजराइली सैनिकों के साथ हाथापाई करने के कारण 2018 में तमीमी को 8 महीने जेल में गुजारने पड़े थे.

रूस का आक्रमण

रूस की सेना लगातार यूक्रेन के शहरों में युद्ध जारी किए हुए है जिसके फलस्वरूप पश्चिम के देशों के प्रमुख हवाई क्षेत्रों में उड़ान पर और तमाम वित्तीय नेटवर्क पर प्रतिबंध का सामना करना पड़ रहा है.

खबरों के मुताबिक़ अब तक कई लोगों की जान जा चुकी है जबकि हजारों लोगों को विस्थापन के लिए मजबूर होना पड़ रहा है.

यूक्रेन संघर्ष से जुड़े कई अन्य गलत दावों को AFP ने यहां फैक्ट-चेक किया है.

यूक्रेन संघर्ष